Friday, 1 December 2017

Rahul Gandhi Biography In Hindi-राहुल गांधी की जीवनी

पूरा नाम – राहुल राजीव गांधी
जन्म      – 19 जून 1970
जन्मस्थान – दिल्ली
पिता      – राजीव फिरोज गांधी
माता      – सोनिया गांधी
शिक्षा     – कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से विकास संबंधी शिक्षा


राहुल गांधी की जीवनी-Rahul Gandhi Biography In Hindi


"Rahul Gandhi" नेहरू-गांधी परिवार के चौथी पीढ़ी के भारतीय राजनेता है. वे भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस के वर्तमान उपाध्यक्ष है. साथ ही राहुल गांधी भारतीय राष्ट्रिय विद्यार्थी संघ और राष्ट्रिय युवा कांग्रेस के अध्यक्ष के पद पर विराजमान है. अभी कुछ ही समय पहले वे ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी के महामंत्री भी नियुक्त हुए. राहुल गांधी संसद के सदस्य भी है और अमेठी चुनाव क्षेत्र का प्रतिनिधित्व भी कर रहे है.

फ़िलहाल कांग्रेस कमिटी के सदस्य के रूप में वे दूसरे स्थान पर माने जाते है. वे उन बहादुर लोगो के परिवार से सम्बन्ध रखते है जिन्होंने भारतीय इतिहास में भारतीय राजनीती में मुख्य भूमिका अदा की थी. उनके महान दादा पंडित जवाहरलाल नेहरू – Jawaharlal Nehru आज़ाद भारत के पहले प्रधानमंत्री थे. उनकी दादी इंदिरा गांधी भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री थी.

इंदिरा गांधी ने अपने राजनैतिक ज्ञान से भारत पर बहोत प्रभाव छोड़ा था वे राजनितिक रूप से एक शक्तिशाली महिला मानी जाती थी. उनके पिता राजीव गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष और भारत के प्रधानमंत्री भी रह चुके है. उनकी माता सोनिया गांधी कांग्रेस की वर्तमान अध्यक्ष है. राहुल गांधी आने वाले चुनाव में कांग्रेस के नए चेहरे के रूप में जाने जाते है.


राहुल गांधी की व्यक्तिगत जीवन 

कांग्रेस के 'युवराज' राहुल गांधी यूं तो पहले से ही पार्टी में नंबर दो हैं, लेकिन 19 जनवरी 2013 को जयपुर चिंतन शिविर में उनको पार्टी उपाध्यक्ष बनाने का एलान के बाद वे अब अधिकृत तौर पर पार्टी में नंबर दो की हैसियत वाले नेता बन गए हैं।

राहुल गांधी का जन्म 19 जून, 1970 को भारत के राजनीतिक रूप से सबसे ताकतवर परिवार गांधी परिवार में हुआ। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी के पुत्र और श्रीमती इंदिरा गांधी के पोते राहुल अपने माता-पिता की दो संतानों में बड़े हैं और प्रियंका गांधी वढेरा के बड़े भाई हैं।

संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के पुत्र राहुल की प्रारंभिक शिक्षा दिल्ली के मॉडर्न स्कूल में हुई थी, इसके बाद वे प्रसिद्ध दून स्कूल में पढ़ने चले गए जहां उनके पिता राजीव ने भी शिक्षा ग्रहण की थी। 1981-83 तक सुरक्षा कारणों के कारण राहुल को अपनी पढ़ाई घर से ही करनी पड़ी। राहुल ने हार्वर्ड विश्वविद्यालय के रोलिंस कॉलेज फ्लोरिडा से सन 1994 में अपनी कला स्नातक की उपाधि प्राप्त की। इसके बाद सन 1995 में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के ट्रिनिटी कॉलेज से एमफिल की डिग्री हासिल की।
स्नातक की पढ़ाई के बाद राहुल ने प्रबंधन गुरु माइकल पोर्टर की प्रबंधन परामर्श कंपनी मॉनीटर ग्रुप के साथ 3 साल तक काम किया। इस दौरान वे यहां छद्म नाम 'रॉल विंसी' के नाम से कार्य करते थे। सन 2002 के अंत में वे मुंबई में अभियांत्रिकी और प्रौद्योगिकी से संबंधित एक आउटसोर्सिंग कंपनी के चलाने के लिए भारत लौट आए।

वर्ष 2003 में राहुल गांधी ने राष्ट्रीय राजनीति में रुचि लेना प्रारंभ किया। वे सार्वजनिक समारोहों में अपनी मां श्रीमती सोनिया गांधी के साथ दिखाई देने लगे। मार्च 2004 में चुनाव लड़ने की घोषणा के साथ उन्होंने राजनीति में अपने प्रवेश की घोषणा की, जिसमें वे अपने पिता के निर्वाचन क्षेत्र अमेठी से लोकसभा के लिए खड़े हुए और लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए।

2007 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए एक उच्च स्तर के कांग्रेस अभियान में उन्हें प्रमुख व्यक्ति के रूप में प्रस्तुत किया गया। हालांकि पार्टी को अपेक्षित सफलता नहीं मिली। इससे राहुल को काफी आलोचना भी झेलना पड़ी थी।
राहुल को 24 सितंबर 2007 में पार्टी सचिवालय के एक फेरबदल में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति का महासचिव नियुक्त किया गया। उसी फेरबदल में, उन्हें युवा कांग्रेस और भारतीय राष्ट्रीय छात्र संघ की जिम्मेदारी भी सौंपी गई। उनकी छवि कांग्रेस में एक युवा नेता के रूप में उभरी।

वर्ष 2009 के लोकसभा चुनावों में उन्होंने उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी को 333000 वोटों के बड़े अंतर से पराजित किया। इन चुनावों में कांग्रेस ने 80 लोकसभा क्षेत्रों वाले राज्य में 21 सीटें जीतकर राज्य में पार्टी में नए उत्साह का संचार किया। उस समय इस बदलाव का श्रेय भी राहुल गांधी को दिया गया।
हालांकि उनके कुछ बयानों से विवाद की स्थिति भी निर्मित भी हुई, जिसके कारण पूरी कांग्रेस को उनके बचाव के लिए आगे पड़ा। राहुल ने 1971 में पाकिस्तान के टूटने को, अपने परिवार की 'सफलताओं' में गिनाया, जिससे उन्हें काफी आलोचनाएं भी झेलना पड़ी थीं। बाबरी मस्जिद मामले में भी उन्होंने विवाद को हवा दी थी। हालांकि राहुल की असली परीक्षा अभी होना बाकी है, जब आगामी लोकसभा चुनाव उनके नेतृत्व में लड़ा जाएगा। यदि वहां उन्हें अपेक्षित सफलता मिलती है, निश्चित ही वे देश के अगले प्रधानमंत्री हो सकते हैं।
"Rahul Gandhi" का जन्म 19 जून 1970 को दिल्ली में हुआ. वे प्राचीन भारतीय प्रधानमंत्री राजीव गांधी के दो बच्चों में सबसे बड़े थे. उनकी माता सोनिया गांधी वैसे तो इटली से है लेकिन अभी उन्होंने भारत की नागरिकता स्वीकार कर ली है. उनकी छोटी बहन प्रियंका वाड्रा ने व्यापारी रोबर्ट वाड्रा से शादी कर ली.

राहुल गांधी ने अपनी प्राथमिक शिक्षा सेंट कोलंबिया स्कूल दिल्ली से ग्रहण की और फिर बाद में 1981 से 1983 तक वे पढ़ने के लिए डून स्कूल, देहरादून, उत्तराखंड गए.

अब तक उनके जीवन में उनके साथ काफी हादसे हुए. 31 अक्टूबर 1984 को इंदिरा गांधी की हत्या कर दी गयी, जिसने राजीव गांधी को राजनीती में लाया और परिणामतः उन्हें भी भारत के प्रधानमंत्री के रूप में नियुक्त किया गया. गांधी परिवार का उस समय सिख समुदाय में काफी विरोध किया था इसके चलते उस दौरान उनके परिवार को बहोत सुरक्षा प्रदान की गयी थी. परिणामतः विरोध के चलते राहुल और उनकी बहन प्रियंका को घर पर ही शिक्षा दी जाती थी.

सन् 1989 में वे दिल्ली कीसेंट स्टीफेन कॉलेज में शामिल हुए और वहा अपनी पढाई का प्रथम वर्ष पूरा करने के बाद वे हावर्ड विश्वविद्यालय गए. और इसी दौरान उनके साथ एक और हादसा हुवा, 1991 में "LTTE" द्वारा राजीव गांधी की भी हत्या कर दी गयी. दोबारा सुरक्षा को मध्यनजर रखते हुए राहुल को फ्लोरिडा के रोल्लिन्स कॉलेज में भेजा गया जहा उन्होंने 1994 में अपना BA पूरा किया. उस समय ऐसा माना जाता की थी केवल उनकी सुरक्षा एजेंसी और विश्वविद्यालय समिति को ही उनकी सही पहचान मालूम थी.

1995 में उन्होंने अपना "M.Phil" पुरा किया और इसी के साथ उन्होंने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से विकास संबंधी शिक्षा प्राप्त की.

अपने ग्रेजुएशन के बाद, 3 साल तक राहुल गांधी ने लंदन के मॉनिटर ग्रुप के लिए काम किया, जो मैनेजमेंट गुरु माइकल पोर्टर की ही सलाहकार संस्था थी. 2002 के अंत में भारत वापिस आने के बाद वे टेक्नोलॉजी आउटसोर्सिंग फर्म और बस्कोपस सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड, मुम्बई के अध्यक्ष बने.

और बाद में कुछ सालो बाद से राजनीति में सक्रीय रूप से कार्यरत है.
loading...

No comments:

Post a comment