Thursday, 19 July 2018

Govinda Biography In Hindi - गोविंदा की जीवनी

Govinda biography in hindi - गोविंदा का जीवन परिचय 



  गोविंदा (जन्मनाम – गोविंद अरुण आहूजा) एक भारतीय फिल्म अभिनेता, कॉमेडियन और भूतपूर्व राजनेता है, जो हिंदी फिल्मो में अपने बेहतरीन कलाकारी के लिए जाने जाते है। गोविंदा अपनी अनोखी नृत्य कला के लिए भी प्रसिद्ध है।

अपने जीवनकाल में गोविंदा को अबतक 12 फिल्मफेयर अवार्ड नामनिर्देशन, एक विशेष फिल्मफेयर अवार्ड और बेस्ट कॉमेडियन का फिल्मफेयर अवार्ड और चार जी सिने अवार्ड मिल चुके है। इसके साथ ही गोविंदा 2004 से 2009 तक संसद भवन के सदस्य भी रह चुके है। Govinda की पहली फिल्म 1986 में इल्जाम आयी थी और अबतक वे तक़रीबन 165 हिंदी फिल्मे कर चुके है। बीबीसी न्यूज़ ऑनलाइन पोल में सर्वाधिक वोट पाने वाले की सूचि में वे दसवे स्थान पर थे।

Govinda life 

1980 के समय में, गोविंदा ने बहुत सी पारिवारिक, ड्रामा, एक्शन और रोमांस फिल्मे की। 80 के दशक में उन्होंने बॉलीवुड में एक्शन हीरो के रूप में अपनी पहचान बनायी और फिर 90 के दशक में उन्होंने अपनी पहचान एक हास्य अभिनेता के रूप में बनायी थी। एक समय में जब उनकी फिल्मो को लगातार असफलता मिल रही थी तब उन्होंने अमिताभ बच्चन के साथ फिर वापसी की और एक सुपरहिट फिल्म दी।

आने वाले दशको में उन्होंने 1992 की फिल्म शोला और शबनम में NCC कैडेट की भूमिका निभाई थी, इस फिल्म में उन्होंने दिव्या भारती के साथ काम किया था। गोविंदा ने बहुत सी कॉमेडी फिल्मो में हीरो की भूमिका भी निभाई है, जिनमे मुख्य रूप से फिल्म आँखे (1993), राजा बाबु (1994), कुली नं. 1 (1995), हीरो नं. 1 (1997) और हसीना मान जाएँगी (1999) शामिल है।

करिश्मा कपूर के साथ आयी हसीना मान जाएँगी फिल्म के लिए उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट कॉमेडियन अवार्ड और साजन चले ससुराल के लिए उन्हें फिल्मफेयर विशेष अवार्ड मिला था। इसके बाद गोविंदा ने बहुत सी फिल्मो में डबल रोल की भूमिका भी निभाई जिनमे मुख्य रूप से जान से प्यारा (1992), आँखे (1993), बड़े मियाँ छोटे मियाँ (1998) और अनाड़ी नं. 1 (1999) शामिल है।

इसके बाद उन्होंने हद कर दी आपने (2000) फिल्म में एक साथ 6 रोल निभाए थे, उनके उन किरदारों के नाम राजू और उनकी माँ, पिता, बहन, बड़ी माँ और बड़े पापा थे।

लेकिन फिर सन 2000 में बॉक्स ऑफिस में बहुत सी फ्लॉप फिल्मे करने के बाद उन्होंने फिल्म अक्षय कुमार के साथ भागम भाग (2006), सलमान खान और कैटरीना कैफ के साथ पार्टनर (2007), लाइफ पार्टनर (2007), लाइफ पार्टनर (2009) जैसी बहुत सी सफल फिल्मे की। इसके बाद सन 2015 में उन्होंने जी-टीवी के डांस रियलिटी शो, डांस इंडिया डांस सुपर मॉम सीजन 2, मिथुन चक्रवर्ती की जगह पर जज की भूमिका भी निभाई थी।

गोविंदा (भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस के सदस्य) की नियुक्ती 2004 में 14वे लोकसभा चुनाव में भारत के महाराष्ट्र के उत्तर मुंबई क्षेत्र से संसद भवन के सदस्य के रूप में नियुक्ती की गयी थी। लोकसभा चुनाव में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के राम नाइक को पराजीत किया था।

Govinda Early Life

गोविंदा (Govinda) का जन्म 21 दिसम्बर 1963 को हुआ। उनके पिता भूतपूर्व अभिनेता अरुण कुमार और उनकी माता गायिका-अभिनेत्री निर्मला देवी है। उनका जन्म एक पंजाबी-सिंधी परिवार में हुआ था। अरुण खास तौर पर अपनी फिल्म महबूब खान की फिल्म औरत (1940) के लिए प्रसिद्ध है।

उन्होंने एक ही फिल्म प्रोड्यूस की थी और इसके कुछ समय बाद ही उन्हें बिमारियों ने घेर लिया था। उनका परिवार मुंबई के कार्टर रोड पर रहता था लेकिन बाद में वे वहाँ से उत्तर मुंबई में स्थापित हो गये थे, जहाँ गोविंदा का जन्म हुआ। अपने माता-पिता की छः संतानों में से गोविंदा सबसे छोटे है। घर में उन्हें उपनाम “ची-ची” भी दिया गया था, जिसका पंजाबी अर्थ “छोटी ऊँगली” से है, घर पर उन्हें इसी नाम से पुकारा जाता था।

उनका भाई कीर्ति कुमार एक अभिनेता, प्रोड्यूसर और डायरेक्टर है। उनकी बहन, कामिनी खन्ना एक राइटर, म्यूजिक डायरेक्टर और गायिका है।

गोविंदा (Govinda) के अंकल आनंद सिंह (डायरेक्टर हृषिकेश मुखर्जी के असिस्टेंट), ने गोविंदा (Govinda) को फ़िल्म तन-बदन में परिचित करवाया था। सिंह की भाभी सुनीता उस समय गोविंदा के प्यार में पड़ चुकी थी और उन्होंने 11 मार्च 1987 को उन्होंने शादी कर ली थी।

उनकी दो संताने है : एक बेटी टीना और एक बेटा यशवर्धन है। टीना ने 2015 में आयी फिल्म ‘सेकंड हैण्ड हसबंड’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था।

मनोरंजन के क्षेत्र में गोविंदा (Govinda) के छः भतीजे और दो भांजीयाँ है: अभिनेता विनय आनंद, कृष्णा अभिषेक, आर्यन, अर्जुन सिंह, रागिनी खन्ना, अमित खन्ना, आरती सिंह और डायरेक्टर जनमेंद्र कुमार आहूजा।

5 जनवरी 1994 को खुद्दार फिल्म की शूटिंग के लिए स्टूडियो पर जाते समय गोविंदा (Govinda) के साथ एक दर्दनाक हादसा हुआ था। गोविंदा (Govinda) की कार दूसरी कार से टकरा गयी थी और इसकी वजह से उनके सिर में गंभीर चोट लग गयी थी। लेकिन फिर भी गोविंदा ने शूट करने से इन्कार नही किया बल्कि डॉक्टर को एकबार दिखाने के बाद उन्होंने आधी-रात तक काम किया था।

Govinda Political Career

2004 में गोविंदा (Govinda) कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गये और इसके बाद लोकसभा चुनाव में मुंबई से उनकी नियुक्ती संसद भवन के सदस्य के रूप में की गयी थी। चुनाव में वे 50,000 वोटो से जीते थे।

चुनाव के समय में, उन्होंने बताया था की उनका एजेंडा प्रवास, स्वास्थ और ज्ञान है। प्रवास के क्षेत्र में उन्होंने बोरीवली-विरार में बहुत से कार्य किये है। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार उन्होंने स्वास्थ और शिक्षा के क्षेत्र में भी बहुत से कार्य किये थे। ठाणे जिल्हा कलेक्टर ने एक इंटरव्यू में कहाँ था की, गोविंदा (Govinda) ने अपने “लोकल एरिया डेवलपमेंट फण्ड” से वसई और विरार में पिने के पानी की समस्या को दूर करने के लिए पैसे दिए थे।

Interesting facts about govinda 



1.गोविंदा (Govinda) का बचपन बहुत मुश्किलों में बिता क्योंकि उनके पिता एक अभिनेता थे और वह बहुत व्यस्त रहते थे। जिसके दौरान वह गोविंदा को समय नहीं दे पा रहे थे।

2.1947 में, भारत- पाकिस्तान विभाजन के बाद उनके पिता पाकिस्तान के गुजरांवाला क्षेत्र से पंजाब में आए।

3.उनकी माँ नज़ीम मुस्लिम समुदाय से थीं, विवाह के उपरांत हिन्दू धर्म में परिवर्तन से उनका नाम निर्मला देवी रखा गया।

4.गोविंदा (Govinda) को होटल ताज में प्रबंधक की नौकरी से मना कर दिया गया था क्योंकि उन्हें अंग्रेजी भाषा का कम ज्ञान था।

5.अपनी पहली फिल्म इल्जाम में, नृत्य के साथ “आई एम ए स्ट्रीट डांसर” गीत भी गाते है |

6.गोविंदा (Govinda) अपनी फिल्म “हत्या और स्वर्ग” को छोड़कर अपनी किसी अन्य फिल्म को पसंद नहीं करते।

7.1994 में, एक सड़क दुर्घटना में उनके सिर पर काफी गहरी चोट लगने पर भी फिल्म में अपनी भूमिका को अच्छे ढंग से निभाया।

8.1999 में, बीबीसी न्यूज़ के द्वारा रंगमंच के दसवें सबसे महान सितारे के रूप में सम्मानित किए गए।

10.90 के दशक के दौरान, उन्होंने स्वयं को एक बेहतरीन हास्य कलाकार में परिवर्तित कर दिया और कादर खान के साथ उनकी जोड़ी काफ़ी सराहनीय रही।

11.उन्हें ताल, गदर और देवदास जैसी हिट फिल्मों में भूमिका के लिए प्रस्ताव आया, लेकिन उन्होंने कार्य करने से मना कर दिया।

12.उन्होंने 2004 में कांग्रेस पार्टी के साथ अपना राजनीतिक जीवन शुरू किया और भारतीय जनता पार्टी के राम नाईक को हराकर लोकसभा सदस्यता हासिल की, वर्ष 2008 में उन्होंने राजनीति से सन्यास ले लिया।

13.गोविंदा (Govinda) ने जब सलमान खान से शुल्क लेने से मना कर दिया तो सलमान खान ने इसके एवज में गोविंदा को मर्सिडीज बेंज कार उपहार स्वरूप भेंट की।
loading...

1 comment: